July 16, 2024

लंढौर मेले में पहाड़ी उत्पादों का पर्यटकों ने लिया लुफ्त

मसूरी। ग्रीन लाइफ के तत्वाधान एवं छावनी परिषद लंढौर के सहयोग से छावनी परिषद के चार दुकान में दो दिवसीय लंढौर मेले का आयोजन किया गया। पहले दिन बड़ी संख्या में पर्यटकों ने मेले में पहुंच कर उत्तराखंड के लजीज व्यंजनों के साथ ही पहाड़ी उत्पादों की जमकर खरीदारी की। 

चार दुकान में आयोजित लंढौर मेंले में पहले दिन ही बड़ी संख्या में स्थानीय लोगों व पर्यटकों ने भागीदारी की। मेले में जहां पहाड़ी खाने के स्टॉल लगे थे जिसमें पहाड़ी दाल के पकौड़े, पहाड़ी खाने की थाली, सहित पहाड़ के उत्पाद मेले में आकर्षण का केंद्र रहे। वहीं मेले में उत्तराखंडी हस्तशिल्प के स्टाल भी लगे थे। वहीं मेले में पाश्चात्य खाने के स्टॉलों पर भी खासी भीड़ रही। इस मौके पर मेले के आयोजक ग्रीन लीफ संस्था के निदेशक विवेक वेणीवाल ने कहा कि छावनी क्षेत्र में लगने वाला लंढौर मेला नौवीं बार आयोजित किया जा रहा है। जिसमें आसपास के क्षेत्रों के पहाड़ी उत्पाद लाये जाते है व उन्हें मंच प्रदान किया जाता है साथ ही बड़े ब्रांड के स्टाल भी लगाये जाते हैं। मेले का उददेश्य उत्तराखंड की सांस्कृतिक विरासत को आगे बढाना है यहां के खानपान, वेशभूषा, व उत्पादों को आगे बढाना है, साथ ही यहां के किसानों, को प्रोत्साहित करना है, ताकि मेले के माध्यम से वे अपना उत्पाद बेच सकें व  बाजार उपलब्ध हो सके व उनकी आर्थिकी मजबूत होने के साथ ही यहां का पैसा यहीं पर रह सके। उन्होंने कहा कि अगले साल दसवां मेला आयोजित किया जायेगा व प्रयास रहेगा कि सरकार की ओर से सहयोग मिले व स्पॉन्सर्स मिले।

इस मौके पर आईटीएम की उपनिदेशक अनीता महेंद्रू ने कहा कि लंढौर मेला हर साल बढ़ता जा रहा है। लोकल उत्पाद व पहाड़ी व्यंजन परोसे जा रहे हैं, इससे पर्यटक यहां की संस्कृति व उत्पादों के बारे में जानकारी ले सकेंगे व निश्चित ही आने वाले समय में इसे और बड़े स्तर पर होना चाहिए ताकि पर्यटक इसका पूरा आनंद ले सकें। इस मौके पर पहाड़ी रसोई, मां दुर्गा स्वयं सहायता समूह, सुभागा देवी ट्रस्ट आदि ने भी अपने स्टाल लगाये।

इस मौके पर छावनी परिषद से सीईओ कौशल गौतम, फिल्म निदेशक विशाल भारद्वाज, पूर्व छावनी परिषद उपाध्यक्ष महेश चंद, पूर्व सभासद पुष्पा पडियार, विजय लक्ष्मी काला, गणेश सैली, सहित बड़ी संख्या में लोग मौजूद रहे। 

About Author

Please share us

Today’s Breaking