May 19, 2024

शिक्षकों के सम्मान का कार्यक्रम स्थगित करवाने पर युवजन सभा ने कहा: सत्तारूढ़ दल के संगठन ने कार्यक्रम को जातिगत भावना के कारण रुकवाया

मसूरी। एमपीजी कालेज के सभागार में अखिल भारतीय अनुसूसचित जाति युवजन समाज की ओर से आयोजित अभिनंदन व सम्मान समारोह का छात्र संघ ने विरोध किया, जिसके बाद कार्यक्रम स्थगित कर दिया गया। जिसके बाद आयोजक संगठन द्वारा आरोप लगाया गया है कि सत्तारूढ़ दल के संगठन द्वारा जातिगत भावना से कार्यक्रम का विरोध किया गया। 

एमपीजी कालेज में शिक्षको के लिए अखिल भारतीय युवजन सभा द्वारा संगठन के स्थापना दिवस पर सम्मान समारोह का कार्यक्रम आयोजित किया जाना था, लेकिन  छात्र संघ व एबीवीपी ने यह कहकर कार्यक्रम को विरोध के बाद स्थगित करवाया कि इस कार्यक्रम की उनको सूचना नहीं दी गई साथ ही यह कार्यक्रम राजनैतिक कार्यक्रम है। इस मामले में युवजन समाज की ओर से आरोप लगाया गया कि उनका संगठन सामाजिक व गैर राजनैतिक है। लेकिन दुर्भाग्यपूर्ण है कि जातिगत भावना के कारण सम्मान समारोह आयोजित नहीं होने दिया गया है।

कार्यक्रम के आयोजक व अखिल भारतीय अनुसूचति जाति युवजन सभा के प्रदेश अध्यक्ष विकास चौहान का कहना है कि संगठन गैर राजनैतिक व सामाजिक तथा एसटी एससी के हितों के लिए कार्य करता आ रहा है। उन्होंने कहा कि संगठन के स्थापना दिवस पर कालेज के शिक्षकों का सम्मानित किये जाने का कार्यक्रम रखा था, ताकि लंबे समय से कालेज में रिक्त शिक्षकों के पद भरे गये थे और उसमें एसटी एससी के शिक्षकों की संख्या अधिक थी। लेकिन आश्चर्य की बात है कि आज भी सत्तारूढ़ संगठन जातिगत भावना रखता है, जिस कारण उनके द्वारा शिक्षकों का सम्मान करने का विरोध किया गया। उन्होंने कहा कि यह राजनैतिक संगठन नहीं है। इस कार्यक्रम में भाजपा के मंडल अध्यक्ष को भी बुलाया गया था। वहीं कालेज में बाहरी लोगों के कार्यक्रम पहले से होते आये है और हो रहे है। यहां तक कि कि शादियां भी हो रही है, जबकि उनका संगठन तो शिक्षकों का सम्मान कर रहा था।

छात्रसंघ अध्यक्ष मोहन शाही का कहना था कि बिना किसी सूचना के कालेज में कोई कार्यक्रम नहीं हो सकता। इसमें छात्र संघ को भी सूचित नहीं किया गया। उन्होंने कहा कि कालेज में राजनैतिक दल का कार्यक्रम नहीं हो सकता। उन्होंने चेतावनी दी कि अगर विरोध के बाद भी कार्यक्रम किया गया तो पूरा छात्रसंघ इस्तीफा दे देगा व कालेज से टीसी ले लेगा।

विरोध करने वालों में कालेज छात्रसंघ अध्यक्ष मोहन शाही, भाजपा युवा मोर्चा महामंत्री सुमित भंडारी, युवा मोर्चा अध्यक्ष रविंद्र रावत, आदित्य पडियार, अमित पंवार, सुदीप्त भंडारी, अनिल, नितिन भंडारी, अंकित पंवार, हिमांशु उनियाल, सौरव नौटियाल, शीला जवाड़ी, रिंकी शाह, छात्र संघ महासचिव अनिल सहित बड़ी संख्या में छात्र मौजूद रहे।

About Author

Please share us

Today’s Breaking