July 16, 2024

Mussoorie Update: बहते सीवर के गंदे पानी से रूबरू हो रहे मेहमान, लेकिन फोन उठाने तक को तैयार नहीं जल संस्थान के भ्रष्ट अधिकारी

मसूरी। पहाड़ों की रानी के नाम से विश्व प्रसिद्ध मसूरी आजकल जहां माल रोड के सुधारीकरण कार्य के कारण परेशानियों से जूझ रही है, वहीं अब शहर के चारों तरफ सड़कों पर बह रहा सीवर पर्यटकों के साथ ही स्थानीय नागरिकों को खूब चिढ़ा रहा है। लेकिन आम नागरिक इस समस्या के समाधान के लिए शिकायत करें भी तो किससे। वर्षों से जल संस्थान में काबिज ये भ्रष्ट अधिकारी तो फोन उठाना तक मुनासिब नहीं समझते।

मालूम हो कि मसूरी की माल रोड पर इलाहबाद बैंक के नीचे व लक्समाउंट के बीच और लक्समाउंट होटल व शिशु मंदिर के बीच दो दिन से सीवर बह रहा है। पिक्चर पैलेस चौराहे पर तो लंबे अरसे से हर रोज सीवर बहता नजर आ जाता है, जिसका स्थाई हल ये भ्रष्ट अधिकारी आज तक नहीं निकाल पाए। वहीं बात करें तिलक मेमोरियल लाइब्रेरी के समीप बह रहे सीवर की तो पिछले एक सप्ताह से यहां पर स्थानीय नागरिक व व्यापारी इस सीवर की समस्या से परेशान हैं। उनके द्वारा जलसंस्थान के अधिकारियों से कई बार इसकी शिकायत भी कर दी गई है। स्वयं दो दिन से मेरे द्वारा जल संस्थान के अवर अभियंता टी एस रावत को फोन किया जा रहा लेकिन इन साहब की भी फोन उठाने में कोई रुचि नहीं। लगता है लंबे समय से मसूरी जल संस्थान में काबिज रहकर ये अब ऊब चुके हैं। अगर आप अब यहां पर कार्यरत रहकर ऊब चुके हैं तो ट्रांसफर करवा लीजिए। जनता आपकी वजह से समस्याओं से नही जूझेगी। जनता को तो अपनी समस्याओं के समाधान के लिए ऐसे अधिकारी चाहिए जो उनका फोन उठाए और समस्या का हल करें। ऐसा भी क्या घमंड कि आप फोन उठाने को भी तैयार नहीं।

यह भी पढ़ें: पहले सील की अंग्रेजी शराब की दुकान, फिर दो दिन में ही ऐसा खेल होता है कि खुल जाती है सील, गूंगा बेहरा बना है आबकारी विभाग

आपको बता दें सुबह के समय स्कूली बच्चों की सबसे अधिक आवाजाही होती है। ल्क्समाउंट के नीचे आज सुबह जब हैम्पटन कोर्ट के बच्चे स्कूल के लिए जा रहे थे, तब एक वाहन वहां से गुजरा, तो उस बहते सीवर की गंदगी के छींटे बच्चों पर जा गिरे। जल संस्थान के जेई त्रेपन रावत को फोन किया तो फोन नही उठाया। दरअसल मैं सुबह वॉक करता हु, जहां भी ऐसी समस्या होती है तो मैं जेई रावत को कॉल कर देता हु। इसलिए अब वे पहले समझ जाते हैं कि कहीं कोई समस्या होगी, जिस कारण वे फोन उठाना भी मुनासिब नहीं समझ रहे। जब हमारा फोन उठाना ही ये भ्रष्ट अधिकारी मुनासिब नहीं समझ रहे तो आम नागरिक तो परेशान ही होगा। ऐसे में आम जनता कहा जाए किसके सामने अपनी समस्या रखें। जबकि मुख्यमंत्री के स्पष्ट निर्देश हैं कि अधिकारी हमेशा अपना फोन ऑन रखें और सभी फोन रिसीव करें। अगर किसी वजह से फोन रिसीव नहीं कर पाते हैं तो कॉल बैक कर जन समस्याओं का निवारण करें।

नोट: ऐसी किसी भी समस्या व शिकायतों के लिए आप हमे व्हाट्सएप करें।

About Author

Please share us

Today’s Breaking