April 16, 2024

देश में कोरोना के बढ़ते मामलों को देखते हुए उपजिला चिकित्सालय में अस्पताल प्रशासन ने किया मॉकड्रिल, व्यवस्थाओं को परखा

मसूरी। देश में तेजी से बढ रहे कोरोना मामलो को लेकर उपजिला चिकित्सालय में अस्पताल प्रशासन ने मॉकड्रिल किया व कोरोना की रोकथाम संबंधी व्यवस्थाओं का जायजा लिया। इस मौके पर सीएमएस डा. यतेंद्र सिंह बताया कि कोरोना से निपटने के लिए अस्पताल पूरी तरह से तैयार है तथा जरूरी सुविधाएं व व्यस्थाएं कर ली गई है।

उप जिलाचिकित्साल लंढौर के सीएमएस डा. यतेंद्र सिंह व कोविड नोडल अधिकारी डा. प्रदीप राणा के नेतृत्व में अस्पताल में मॉकड्रिल की गई व कोरोना संबधी व्यवस्थाओं को परखा गया। इस दौरान कोरोना वार्ड, दवाओ सहित आक्सीजन बैंक का निरीक्षण किया गया। निरीक्षण के मौके पर भाजपा के पूर्व मंडल अध्यक्ष मोहन पेटवाल, व विधायक के स्वास्थ्य विभाग के प्रतिनिधि रमेश खंडूरी, महामंत्री कुशाल राणा, सतीश ढौडियाल व वरिष्ठ चिकित्सक डा. मीता श्रीवास्तव साथ रहे।

इस मौके पर एसएसएस डा. यतेंद्र सिंह ने बताया कि अस्पताल में जनप्रतिनिधियों की मौजूदगी में कोरोना पर मॉक ड्रिल कर व्यवस्थाओ का निरीक्षण किया गया। उन्होंने बताया कि निरीक्षण में पाया गया है कि आक्सीजन की सप्लाई पूरी है। यहां 500 एलपीएम का आक्सीजन प्लांट है, जो पूरी तरह से चल रहा है तथा अस्पताल के सभी वार्डों में पूरी तरह जरूरत से अधिक आक्सीजन का लेवल देखा गया है। वहीं 51 बैड आक्सीजन के हैं जो पूरी तरह कार्य कर रहे हैं तथा सेंट्रल आक्सीजन पाइप लाइन है। कोरोना के लिए पूरा स्टॉफ तैयार है। पूर्व में भी अस्पताल को कोरोना का सेंटर बनाया गया था। इस मौके पूर्व मंडल अध्यक्ष भाजपा मोहन पेटवाल ने बताया कि कोविड की आशंका को देखते हुए अस्पताल प्रशासन द्वारा निरीक्षण किया गया व सभी तैयारियां दुरूस्त पायी गई।

यह भी पढ़ें: मसूरी में बचपन प्ले स्कूल का उद्घाटन हुआ, फिलहाल प्ले, प्री नर्सरी, एल केजी, यूकेजी की कक्षाएं होंगी शुरू

इस मौके पर स्वास्थ्य विभाग के विधायक प्रतिनिधि रमेश खंडूरी ने कहा कि वह निरीक्षण के समय मौजूद रहे व सारी व्यवस्थाओं का जायजा लिया। जिसमें देखा गया कि पूरी व्यवस्था चाकचौबंद की गई है। इसके बाद भी अगर कोरोना संक्रमण बढता है व अस्पताल को कोई जरूरत पड़ती है तो विधायक के माध्यम से व्यवस्थाएं पूरी की जायेंगी ताकि किसी को भी परेशानी न हो व उनका उपचार सही तरीके से हो सके।

अस्पताल में स्टॉफ की कमी

सीएमएस डा. यतेंद्र सिह ने बताया कि अस्पताल में स्टॉफ की कमी है। अगर अस्पताल में स्टॉफ की व्यवस्था पूरी हो जाय तो अस्पताल में पूरी तरह से कार्य शुरू हो जायेगा। उन्होंने कहा कि चारधाम में चिकित्सकों की तैनाती की जाती है जिसमें यहां से चिकित्सकों को न भेजा जाय। इसके लिए मंत्री गणेश जोशी को अवगत कराया गया है क्योंकि मसूरी भी यात्रा से जुड़ा है व यहां चिकित्सकों की जरूरत है तथा विशेषज्ञ चिकित्सक के जाने से परेशानी होती है, लेकिन यह डीजी कार्यालय से ही संभव है। वही भाजपा के पूर्व मंडल अध्यक्ष मोहन पेटवाल ने कहा कि चिकित्सालय में पर्याप्त चिकित्सक मौजूद है तथा पैरामेडिकल स्टॉफ की कमी को पूरा किया जायेगा। इसके लिए मंत्री गणेश जोशी डीजी स्वास्थ्य व सचिव स्वास्थ्य से वार्ता करेंगे। यात्रा सीजन में यहां से चिकित्सक न जायें इसका प्रयास किया जायेगा।

About Author

Please share us

Today’s Breaking