July 16, 2024

मसूरी: पारंपरिक वाद्य यंत्रों व भैलो खेलकर मनाया गया ईगास पर्व

मसूरी। व्यापार संघ के तत्वाधान में राधाकृष्ण मंदिर सभागार में उत्तराखंड के लोक पर्व ईगास पर्व को धूमधाम से मनाया। इस मौके पर सांस्कृतिक कार्यक्रमों का आयोजन किया गया व गीत व नृत्य किए गये। इसके साथ ही गढवाली पारंपरिक व्यंजनो को परोसा गया। इसके पश्चात शहीद भगत सिंह चौक पर पारंपरिक वाद्ययंत्रों के साथ लोगों ने जमकर भैलों खेला व आतिशबाजी के साथ नृत्य किया व रस्सा कसी की गई। वहीं एसोसिएशन की ओर से लक्की ड्रा भी रखा गया जिसमें रंगीन एलईडी टीवी के साथ ही कई उपहार निशुल्क दिए गये।

व्यापार संघ द्वारा आयोजित ईगास पर्व में शहर के हर वर्ग के लोगों ने भाग लिया और उत्तराखंड की संस्कृति और रीति-रिवाज से रूबरू होते हुए इस लोक पर्व की महत्ता को जाना व इसमें प्रतिभाग किया। इस मौके पर जहां सभागार में जमकर नृत्य गीत व सांस्कृतिक कार्यक्रमों का आयोजन किया गया, जिसमे लोक गायक अर्जुन सेमल्याट की टीम ने पारंपरिक वाद्ययंत्रों ढोल, दमौ, मसकाबाजा व रणसिंघा के साथ लोकगीतों की प्रस्तुति दी व थाली नृत्य किया। इस मौके पर सभी को पहाड़ी व्यंजनों को परोसा गया जिसमें मंडुवे की रोटी, कंडाली का साग, काफली, आलू के गुटके, रायता, झंगोरे की खीर व दाल के पकौड़े आदि थे। इसके बाद पारंपरिक वाद्ययंत्रों के साथ सभी लोग शहीद भगत सिंह चौक पर आये व वहां पर भैलो नृत्य, लकी ड्रा, आतिशबाजी व रस्साकसी सहित विभिन्न कार्यक्रम आयोजित किए गए जिसका लोगों ने जमकर आनंद लिया।

इस अवसर पर व्यापार संघ अध्यक्ष अध्यक्ष रजत अग्रवाल ने कहा कि उत्तराखंड का यह लोक पर्व बहुत ही महत्वपूर्ण है जिसे पूरी श्रद्धा के साथ मनाया जाता है। संस्था द्वारा वर्ष भर आयोजित होने वाले विभिन्न पर्वों को धूमधाम के साथ मनाया जाता है, इसी कड़ी में ईगास भी मनाया जा रहा है। उन्होंने कहा कि सरकार को ऐसे कार्यक्रमों को पाठ्यक्रम में सम्मिलित करना चाहिए, ताकि आने वाली पीढ़ी को हमारे पर्वों की जानकारी हो सके व सभी धर्मो के लोग मिलकर पर्वो को मनायें।

इस मौके पर कार्यक्रम संचालन करते हुए संस्कृतकर्मी प्रदीप भंडारी ने कहा कि ईगास पर्व पर पूरी मसूरी से सैकड़ो की संख्या में लोग पहुंचे हैं और पहाड़ों में मनाया जाने वाले इस ऐतिहासिक पर्व का अपना विशेष महत्व है और सरकार को भी ऐसे कार्यक्रमों को धूमधाम के साथ मनाया जाना चाहिए। उन्होंने रजत अग्रवाल व उनकी टीम का विशेष आभार व्यक्त किया जिन्होंने इस लोक पर्व को मनाने का निर्णय लिया।

इस मौके पर आभा अग्रवाल, सोनल, अग्रवाल, जगजीत कुकरेजा, सलीम अहमद, अतुल अग्रवाल, अनंत प्रकाश, राजेश शर्मा, प्रमिला नेगी, नागेंद्र उनियाल, अनीता सक्सेना, अमित गुप्ता, निमेष डंगवाल, लीला कंडारी सहित बड़ी संख्या में लोग मौजूद रहे।

About Author

Please share us

Today’s Breaking