June 16, 2024

श्रद्धा मर्डर केस में आरोपी आफताब पूनावाल को वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिए किया अदालत में पेश, न्यायिक हिरासत में भेजा

नई दिल्ली: श्रद्धा मर्डर केस में आरोपी आफताब पूनावाल को वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिए अदालत में पेश किया गया. यहां उसे 13 दिनों की न्यायिक हिरासत में भेजा गया. गौरतलब है कि आज यानि शनिवार को आफताब की पुलिस रिमांड खत्म हो रही थी. इस कारण उसे अम्बेडकर अस्पताल से ही वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए अदालत में पेश किया गया. मामले की सुनवाई के दौरान अदालत ने उसे न्यायिक हिरासत में भेजा. सूत्रों के हवाले से ऐसा कहा जा रहा है कि आफताब को आज ही दिल्ली की तिहाड़ जेल में भेजा जाएगा.

गौरतलब है कि आफताब का शुक्रवार को करीब ढाई घंटे तक पॉलीग्राफ टेस्ट हुआ. इसके बाद उसकी तबीयत खराब होने लगी. टेस्ट को बीच ही रोकना पड़ा. चार लोगों की टीम ये टेस्ट कर रही थी. मीडिया रिपोर्ट के अनुसार, आफताब को पॉलीग्राफी के लिए दोबारा बुलाया जा सकता है. हालांकि इसका फैसला रिपोर्ट के आधार पर हो सकेगा. ऐसा कहा जा रहा है कि आफताब ने टेस्ट के दौरान कुछ हद तक ही सहयोग किया. कुछ सवालों के जवाब देने से वह लगातार बचता रहा.

श्रद्धा हत्याकांड के मामले में अब तक जांच में पुलिस ने आफताब का फोन बरामद कर लिया है. अगर डेटा को निकालने में सफलता हाथ लगी को पुलिस के पास बड़े सबूत होंगे. शव को काटने वाला हथियार अभी तक बरामद नहीं हुआ है. मगर उस दुकान का पता लगा लिया गया है, जहां से उसे खरीदा गया है. इन बिल पर श्रद्धा का नंबर लिखा है. आफताब ने फ्रिज भी श्रद्धा के नाम पर खरीदा था. बाथरूम की टाइल्स पर खून के छीटें मिली हैं. वहीं मैदानगढ़ी में तलाब के अंदर तीन हड्डियां बरामद की हैं और जबड़ा भी मिला है. इनका भी डीएनए टेस्ट होगा.

आफताब ने श्रद्धा की हत्या 18 मई को की थी. श्रद्धा वॉल्कर मुंबई को छोड़कर दिल्ली में शिफ्ट हुई थी. यहां पर वह आफताब के साथ छतरपुर के एक फ्लैट में लिव इन रिलेशन में रह रही थी. आरोप है कि आफताब 18 मई को श्रद्धा की गला घोंटकर हत्या कर दी थी. आफताब के अनुसार, श्रद्धा उस पर शादी का दबाव डाल रही थी. हत्या के बाद आफताब ने श्रद्धा के शरीर के 35 टुकड़े कर डाले. इसे रखने के लिए एक ​फ्रिज का इंतजाम किया गया. वह हर रोज रात में शव के टुकडों को महरौली के जंगल में फेंकने जाता था. यह सिलसिला 20 दिनों तक चलता रहा.

About Author

Please share us