June 16, 2024

तस्वीर हो रही साफ, मोदी 3.0 मंत्रीमंडल में किसकी कितनी भागीदारी, जेडीयू मांग रही बीजेपी के बराबरी के मंत्रीपद

नई दिल्ली। लोकसभा चुनाव के परिणामों के बाद एनडीए तीसरी बार सरकार बनाने जा रही है, जिसके लिए संसदीय दल का नेता प्रधानमंत्री मोदी को चुन लिया गया है। 9 जून को मोदी तीसरी बार पीएम पद की शपथ लेंगे। हालांकि मोदी 3.0 की राह इतनी आसान नहीं दिख रही है। हालांकि मोदी ने एक बाधा तो पार कर ली है, लेकिन शपथ ग्रहण से पहले कौन सा मंत्रालय किसको मिलेगा, यह तय नहीं हो पाया है।

सूत्रों की मानें तो चंद्रबाबू नायडू की पार्टी टीडीपी 3 मंत्रालय चाहती है, जबकि नीतीश की जेडीयू बिहार में जारी फॉर्मूले के आधार पर मंत्रालय मांग रही है। इसका मतलब है कि जेडीयू बीजेपी के बराबर मंत्री पद चाहती है। वहीं एलजेपी और हम पार्टी को एक-एक मंत्री पद मिल सकता है। हालांकि अभी कुछ भी आधिकारिक नहीं है।

जेडीयू बिहार के फॉर्मूले पर चाहती है मंत्री पद

हालांकि नीतीश कुमार ने शुक्रवार को एनडीए की ससंदीय दल की बैठक में यह साफ कर दिया कि वो अब 5 साल तक एनडीए के साथी बने रहेंगे और जो भी मदद होगी या निर्णय होंगे उस पर पूरा साथ दिया जाएगा। लेकिन अब बात मंत्रालयों पर आकर फंस रही है। पहले ऐसी खबर थी जेडीयू अपने कोटे से 3 मंत्री पद चाहती है जिसमें रेल मंत्रालय प्रमुखता से है। लेकिन अब सूत्रों के हवाले से जो जानकारी मिल रही है, उसके हिसाब से कहानी अलग है। जनता दल यूनाइटेड चाहती है कि बीजेपी बिहार वाले फॉर्मूले पर काम करे, मतलब बीजेपी के जितने मंत्री होंगे उतने ही जेडीयू के भी होंगे। कहने को कल को अगर बीजेपी 6 मंत्री अपने बनाती है तो जेडीयू को भी 6 मंत्री पद ही चाहिए।

बिहार वाले फॉर्मूले से केंद्र में क्या बनता है समीकरण?

इस बार के लोकसभा चुनाव में बिहार को 40 में से 30 सीटें मिली हैं। इसमें बीजेपी और जदयू को 12-12, एलजेपी(रामविलास) को 5 और जीतन राम मांझी की पार्टी हिंदुस्तान आवाम मोर्चा को 1 सीट मिली है। अगर बीजेपी बिहार वाले फॉर्मूले पर चलती है तो 12 मंत्री बनाने की सूरत में जेडीयू के भी 12 मंत्री बनाने होंगे। उसके बाद एलजेपी के कोटे से एक और हम पार्टी को 1 मंत्री पद दिया जाएगा। हालांकि अभी कुछ भी आधिकारिक नहीं है।

टीडीपी ने भी मांगे 3 मंत्रालय

सूत्रों की मानें तो एनडीए सरकार में इस बार महत्वपूर्ण भूमिका निभा रहे चंद्रबाबू नायडू भी केंद्र में 3 मंत्री पद चाहते हैं। खबर है कि टीडीपी 3 मंत्री पद और 1 राज्यमंत्री पद ले सकती है। बीजेपी इसके लिए राजी भी हो गई है, लेकिन साथ ही तेलगु देशम पार्टी स्पीकर पद भी चाहती है। जिस पर बीजेपी राजी नहीं है।

वहीं, जयंत चौधरी अपनी पार्टी आरएलडी के लिए किसान और युवाओं से जुड़े मंत्रालयों की मांग कर रहे हैं। जयंत की मांग है कि उन्हें किसान युवाओं से सबंधित मंत्रालय दे दिया जाए। शिवसेना शिंदे गुट भी केंद्र सरकार में हिस्सा चाहती है। हालांकि बीजेपी ने साफ किया है कि वह सहयोगियों की हर मांग नहीं मान सकती।

About Author

Please share us