June 16, 2024

विभिन्न विभागों के अधिकारियों ने रिस्पना नदी के उद्गम क्षेत्र का किया संयुक्त निरीक्षण

मसूरी। रिस्पना नदी के उद्गम क्षेत्र का उत्तराखंड जल संस्थान, नगर पालिका व जल निगम के अधिकारियों ने संयुक्त निरीक्षण किया इस दौरान अधिकारियों ने मौसी फाल, रिस्पान उदगम व वुड स्टाक स्कूल सहित आईडीएच सीवर एसटीपी का निरीक्षण किया व व्यवस्थाओं का जायजा लिया लेकिन जांच के दौरान कुछ नहीं पाया गया जिस पर पुनः प्रातः काल निरीक्षण किया जायेगा।

मालूम हो कि विगत दिनों मॉसी फॉल में रिस्पना नदी में सीबर बहने पर ग्रामीण अमित पंवार ने चिंता व्यक्त की थी व उप जिलाधिकारी व जल संस्थान को ज्ञापन देकर बहते सीवर को बंद करने की मांग की थी। ताकि गर्मियों के दिनों में बीमारी फैलने से बचा जा सके। एसडीएम ने संबंधित विभागों से जांच कर रिपोर्ट देने के निर्देश दिए थे जिसका संज्ञान लेकर जल संस्थान, जल निगम व नगर पालिका की संयुक्त टीम ने मौके पर जाकर निरीक्षण किया। अधिकारियों ने मौके पर जाकर निरीक्षण किया इसके साथ ही आसपास के स्कूल और होटल में जाकर एसटीपी और सीवर लाइनों की जांच की।

इस मौके पर जल संस्थान के सहायक अभियंता टीएस रावत ने बताया कि उच्च अधिकारियों के निर्देशों के बाद जल निगम, जल संस्थान और नगर पालिका के अधिकारियों द्वारा मौसी फाल और आसपास के क्षेत्र का निरीक्षण किया। उन्होंने बताया कि यदि किसी भी प्रतिष्ठा से खुले में सीवर डाला गया तो उसके खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी। संयुक्त टीम नेे मौसी फॉल कैचमेंट एरिया का संयुक्त रूप से निरीक्षण किया। टीम लंढौर साउथ में जल निगम द्वारा संचालित एसटीपी का भी निरीक्षण किया जिसमें एसपी का संचालन मानकों पर पाया गया है। इस दौरान एसपी से निकलने वाले एफ्लूएंट की भी जांच की गई। टीम द्वारा नगर पालिका परिषद के बायो मिथेन प्लांट का भी निरीक्षण किया गया। यहां से भी कोई सीवर अथवा पानी इत्यादि का रिसाव नाले में होता नहीं पाया गया। टीम द्वारा वाइनबर्ग एलन स्कूल व वुडस्टाक स्कूल का भी निरीक्षण किया गया यहां भी कोई रिसाव नहीं पाया गया। टीम द्वारा अवगत कराया गया कि सुबह को फ्लो अपने अधिकतम स्तर पर होता है इसलिए प्रातः के समय इसका पुनः निरीक्षण कराया जाएगा। ऋषिपर्णा नदी के कैचमेंट एरिया में पढ़ने वाले सभी प्रतिष्ठानों का और बारीकी से निरीक्षण किया जाएगा जिससे यह पता चल सके की इसके कैचमेंट को कौन प्रदूषित कर रहा है। जो भी प्रतिष्ठान इसमें दोषी पाया जाएगा उसके विरुद्ध जुर्माना लगाने के साथ-साथ उपयुक्त नियम कानून के तहत कार्रवाई की जाएगी।

निरीक्षण के दौरान नगर पालिका अधिशासी अधिकारी राजेश नैथानी, स्वास्थ्य निरीक्षक विरेंद्र बिष्ट, जल संस्थान के सहायक अभियंता टीएस रावत, अवर अभियंता दीपक शर्मा, जल निगम कनिष्ठ अभियंता शिवानी नौटियाल, सहित जल संस्थान सीवर कर्मी, वुडस्टाक व वाइनबर्ग ऐलन स्कूल के प्रतिनिधि मौजूद रहे।  

About Author

Please share us