June 16, 2024

केदारनाथ धाम की यात्रा के लिए नामित किए गए नोडल अधिकारी, 1128 सुरक्षा बल भी तैनात

रुद्रप्रयाग। केदारनाथ धाम में दर्शन करने के लिए पहुंच रहे श्रद्वालुओं की यात्रा सुगम, सुव्यवस्थित एवं सुरक्षित यात्रा संचालित हो इसके लिए जिलाधिकारी सौरभ गहरवार के निर्देशन में विभिन्न व्यवस्थाओं को दुरूस्त करने के लिए 41 जिला स्तरीय अधिकारियों को नोडल अधिकारी नामित किया गया है तथा मुख्य विकास अधिकारी को आॅल ओवर नोडल अधिकारी तथा जिला विकास अधिकारी एवं मुख्य कृषि अधिकारी को सहायक नोडल अधिकारी नामित किया गया है।

केदारनाथ यात्रा मार्ग सहित केदारनाथ धाम में 53 चिकित्सक, फार्मसिस्ट एवं अन्य कार्मिक तैनात 

केदारनाथ धाम में दर्शनों को पहुंच रहे यदि किसी श्रद्धालु का स्वास्थ्य खराब होने की स्थिति में एवं किन्हीं कारणों से घायल होने की स्थिति में केदारनाथ यात्रा मार्ग से केदारनाथ धाम तक 12 एमआरपी तैयार की गई हैं जिसमें संबंधित श्रद्धालुओं का तत्परता से उपचार किया जा रहा है। इसके लिए विभिन्न एमआरपी में एक फिजिशियन, एक आॅर्थो 14 चिकित्साधिकारी, 21 फाॅर्मासिस्ट, 11 स्वास्थ्य अधिकारी तथा पांच कनिष्ठ सहायक श्रद्धालुओं का उपचार करने हेतु तैनात किए गए हैं।

घोड़े-खच्चरों के स्वास्थ्य परीक्षण एवं निगरानी के लिए तैनात किया गया है वैटनेरी स्टाफ

केदारनाथ यात्रा मार्ग में संचालित होने वाले घोड़े-खच्चरों के स्वास्थ्य परीक्षण एवं निगरानी के लिए एक संयुक्त निदेशक, एक उप मुख्य पशु चिकित्साधिकारी, नोडल अधिकारी, सात अतिरिक्त स्वास्थ्य अधिकारी, तीन पशुधन प्रसार अधिकारी, पांच पैरावेट तथा 40 म्यूल टास्क फोर्स के कार्मिक तैनात किए गए हैं।

यात्रा मार्ग में साफ-सफाई व्यवस्था सहित अन्य व्यवस्थाओं को दुरूस्त रखने के लिए जोनल सेक्टर व सहायक सेक्टर अधिकारी तैनात किए गए है

केदारनाथ दर्शन करने पहुंच रहे श्रद्धालुओं को यात्रा मार्ग सहित केदारनाथ धाम में किसी परेशानी एवं असुविधा के लिए सोनप्रयाग से केदारनाथ धाम तक सात जोनों में विभाजित किया गया है जिसमें 16 सेक्टर एवं सहायक सेक्टर अधिकारी तैनात किए गए हैं। इसके साथ ही जनपद की सीमा से सोनप्रयाग तक दो जोन एवं सात सेक्टर में विभाजित किया गया है जिसके लिए दो जोनल मजिस्ट्रेट एवं 14 सेक्टर एवं सहायक सेक्टर अधिकारी तैनात किए गए हैं। जिनके द्वारा यात्रा मार्ग पर साफ-सफाई की निरंतर निगरानी की जा रही है।

केदारनाथ यात्रा मार्ग से लेकर धाम तक पर्यावरण मित्रों द्वारा हो रही है निरंतर बेहतर साफ-सफाई व्यवस्था

केदारनाथ धाम में दर्शन करने पहुंच रहे तीर्थ यात्रियों को साफ-स्वच्छ वातावरण उपलब्ध हो इसके लिए नगर पालिका, जिला पंचायत, नगर पंचायत तिलवाड़ा, अगस्त्यमुनि, केदारनाथ एवं सुलभ इंटरनेशनल के पर्यावरण मित्रों द्वारा निरंतर की जा रही है साफ-सफाई व्यवस्था। जिसमें नगर पालिका रुद्रप्रयाग के 37, जिला पंचायत के 70, नगर पंचायत तिलवाड़ा के 21, नगर पंचायत अगस्त्यमुनि के 26, नगर पंचायत केदारनाथ के 51 तथा सुलभ इंटरनेशनल के 74 पर्यावरण मित्रों द्वारा यात्रा मार्ग से लेकर केदारनाथ धाम तक सुलभ शौचालयों की निरंतर साफ-सफाई व्यवस्था की जा रही है तथा पर्यावरण मित्रों द्वारा यात्रा मार्ग सोनप्रयाग से लेकर केदारनाथ पैदल मार्ग की निरंतर साफ-सफाई व्यवस्था की जा रही है।

केदारनाथ धाम एवं यात्रा मार्ग में यात्रियों की सुरक्षा एवं सुविधा के लिए उपलब्ध हैं सुरक्षा बल

केदारनाथ धाम में दर्शन करने पहुंच रहे श्रद्धालुओं की सुरक्षा एवं यातायात व्यवस्थाओं के लिए केदारनाथ धाम में व्यवस्थाओं को सुदृढ करने के लिए विभिन्न सुरक्षा बल तैनात किए गए हैं जो विषम कठिन परिस्थितियों में बीमार एवं घायल तीर्थ यात्रियों को नजदीकी एमआरपी में पहुंचा रहे हैं इसके साथ ही यातायात व्यवस्थाओं एवं केदारनाथ धाम में सुगम दर्शन कराने में अपनी सेवाएं उपलब्ध करा रहे हैं। जिसमें केदारनाथ धाम में 181 सुरक्षा बल अपनी सेवाएं दे रहे हैं। जिसमें 01 पुलिस उपाधीक्षक, 04 निरीक्षक, 05 उप निरीक्षक, 02 महिला उपनिरीक्षक, 05 अपर उप निरीक्षक, 57 मुख्य आरक्षी, 10 आरक्षी, 07 महिला आरक्षी, 08 होमगाड्र्स, 10 पीआरडी, 50 पीएसी 16 एसडीआरएफ एवं 6 फायर सर्विस के कार्मिक अपनी सेवाएं देकर तीर्थ यात्रियों की सुरक्षा एवं सुविधा के लिए निरंतर कार्य कर रहे हैं।

जनपद के विभिन्न चैकपोस्टों एवं यात्रा पड़ावों पर तैनात हुए 1128 सुरक्षा बल

सुगम, सुव्यवस्थित एवं सुरक्षित यात्रा संचालित करने के लिए यात्रियों की सुरक्षा एवं व्यवस्था के लिए जनपद के विभिन्न चैकपोस्टों एवं यात्रा पड़ावों में 1128 सुरक्षा बल तैनात किए गए हैं जो निरंतर अपनी सेवाएं दे रहे हैं जिसमें 4 पुलिस उपाधीक्षक, 15 निरीक्षक, 25 उप निरीक्षक, 10 महिला उप निरीक्षक, 40 अपर उप निरीक्षक, 250 मुख्य आरक्षी, 160 आरक्षी, 60 महिला आरक्षी, 160 होमगाड्र्स, 220 पीआरडी, 100 पीएसी, 48 एसडीआरएफ, 30 फायर सर्विस तथा 10 जल पुलिस के जवान तैनात है। इसके साथ ही सोनप्रयाग एवं केदारनाथ में एनडीआरएफ के 56 जवान, डीडीआरएफ के 23 जवान एवं वाईएमएफ के 29 जवान अपनी सेवाएं दे रहे हैं।

केदारनाथ धाम में दर्शन करने पहुंच रहे श्रद्धालुओं को किसी भी प्रकार की कोई समस्या एवं असुविधा न हो इसके लिए सभी अधिकारी, स्वास्थ्य अधिकारी, कर्मचारी एवं सुरक्षा बल निरंतर अपनी सेवाएं देकर केदारनाथ धाम में दर्शन करने पहुंच रहे तीर्थ यात्रियों को सुव्यवस्थित एवं सुरक्षित यात्रा संचालित करने में पूर्ण सहयोग कर रहे हैं।

About Author

Please share us