March 4, 2024

डेढ़ सौ साल पुराना एतिहासिक वुडन स्केटिंग रिंक हॉल भवन जलकर हुआ ख़ाक

मसूरी:  पर्यटक नगरी मसूरी में कैमल बैक रोड स्थित शहर के डेढ़ सौ साल पुराने एतिहासिक हेरिटेज वुडन स्केटिंग रिंक हॉल के भवन में आग लग गयी, जिससे देखते देखते पूरा भवन ख़ाक हो गया. घटना सुबह तडके 4.00 बजे की है. फायर सर्विस और पुलिस कर्मियों ने पांच घंटे की कड़ी मशक्कत के बाद आग पर काबू पाया. मौके पर नगर पालिका अध्यक्ष अनुज गुप्ता, व्यापार संघ अध्यक्ष रजत अग्रवाल, एस एस आई गुमान सिंह नेगी भी मौजूद रहे.


बता दें कैमल बैक पर मार्ग पर सेंट मेरिज अस्पताल के समीप डेढ़ सौ साल पुराना स्केटिंग रिंक हॉल है. जहाँ होटल द रिंक निर्माणाधीन था.  घटना के समय होटल रिंक के मालिक भीतर सो रहे थे, लेकिन जैसे ही आस पड़ोस के लोगों को घटना का पता लगा, उन्होंने होटल के मालिक को खिड़की के शीशे तोड़कर सकुशल बाहर निकाल लिया. हालाँकि रिंक के नीचे सड़क पर खड़े दो वाहन आग की चपेट में आ गए और जलकर खाक हो गये. आग पर समय रहते जल्दी काबू पाया जा सकता था, लेकिन कैमल बैक की पूरी सडक वाहनों से पटी होने की वजह से समय पर फायर की गाडी को घटनास्थल तक नहीं पहुँचाया जा सका. जिससे आग के बेकाबू होने से आस पड़ोस के घरो तक आग की लपटें पहुँच चुकी थी जिससे उनको भी खतरा पैदा हो गया था. जब वाहनों को सड़क से हटाया गया उसके बहुत देर बाद फायर की गाड़ी को घटनास्थल तक पहुँचाया जा सका.  कड़ी मशक्कत के बाद फायर सर्विस ने स्थानीय लोगों व पुलिस की मदद से करीब छः घंटे बाद आग पर काबू पा लिया है, लेकिन अभी भी रह रह कर आग की लपटें उठ रही हैं. बताया जा रहा है कि होटल रिंक का यह भवन निर्माणाधीन था. इसमें अधिकांश कार्य लकड़ी का हो रहा था. जिस पर लकड़ी ने आग पकड ली. आग की उठती लपटों से अंदाजा लगाया जा सकता है कि आग कितनी भयानक थी. माना जा रहा है कि द रिंक के जलकर राख होने से करोडों का नुकसान हो चुका है. 

आग पर जल्दी काबू पाया जा सकता था, कैमल बैक रोड पर सडक किनारे पार्क वाहन बने खलनायक 

आग पर जल्दी काबू पाया जा सकता था लेकिन कैमल बैक रोड पर बड़े वाहनों को निकलने के लिए जरा भी जगह नहीं थी. हमेशा की तरह सड़क किनारे पार्क हुए वाहनों से सड़क पटी हुई थी. जिस कारण ग्रीन चौक से आगे फायर की गाडी समय से नहीं पहुँच सकी. इससे पहले हाल ही में जब लाइब्रेरी में सडक धंसने से घायल हुए वाहन चालक को कैमल बैक से लेकर अस्पताल ले जाया जा रहा था तो तब भी दीप होटल के समीप एम्बुलेंस इसी जगह फंस गयी थी. उस घटना के बाद भी स्थानीय पुलिस प्रशासन ने सबक नहीं लिया. यदि पुलिस प्रशासन कैमल बैक रोड पर वाहनों को पार्क न करने के लिए सख्ती बरतती तो आज की आगजनी की घटना पर जल्दी काबू पाया जा सकता था. बहरहाल पुलिस प्रशासन कैमल बैक पर सडक किनारे पार्क होने वालों वाहनों पर अभी भी शिकंजा कस लें अन्यथा भविष्य में इनके कारण उस क्षेत्र के लोगों को इसका खामियाजा किसी के जानमाल से भुगतना पड़ेगा. 

About Author

Please share us