March 5, 2024

Breaking News: मॉल रोड सुधारीकरण कार्य में लगा डंपर सड़क धंसने से मुख्य मार्ग पर जा गिरा, चालक की मौत

मसूरी। माल रोड के सुधारीकरण कार्य में लगा एक दंप्रलवा ले जाते समय लाइब्रेरी बाजार में रोड के धसने से लक्ष्मी नारायण मंदिर के पास मसूरी देहरादून मुख्य मार्ग पर जा गिरा। जिसमें चालक गंभीर रूप से घायल हो गया। जिसे तत्काल अस्पताल पहुचाया गया। जहां चिकित्सकों ने उसे मृत घोषित कर दिया। यह तो गनीमत रही कि उस समय मुख्य मार्ग पर अन्य किसी वाहन की आवाजाही नहीं हुई, वरना बड़ा हादसा हो सकता था। हालांकि एक वाहन डंपर के आगे व एक पीछे था जो मामूली रूप से क्षतिग्रस्त हो गये। वहीं रोड के किनारे खडी तीन स्कूटी व बाइक दब गई।

मालरोड के सुधारीकरण कार्य में लगा ठेकेदार का डंपर संख्या यूके 07सीबी 2984 मालवा ढो रहा था। इस दौरान जब डंपर मलवा लेकर लाइब्रेरी बाजार में हवाघर के पास ही पहुंचा, कि रोड धंस गई और वह मसूरी देहरादून मुख्य मार्ग पर जा गिरा। जिसमें चालक रघुवीर सिह रावत निवासी घंडियाला गंभीर रूप से घायल हो गया। घायल को तत्काल उपचार के लिए अस्पताल पहुंचाया गया। जहां चिकित्सकों ने उसे मृत घोषित कर दिया। जबकि दूसरे घायल का उपचार लंढौर कम्युनिटी अस्पताल में चल रहा है। जिस समय डंपर गिरा उस समय हो गई, गनीमत रही कि बड़ी घटना टल गई। क्योंकि आजकल मुख्य मार्ग पर जाम लगा रहता है, यदि उस समय जाम लगा होता,तो बड़ा हादसा हो सकता था। हालांकि डंपर के गिरने से रोड बंद हो गया, जिस कारण रोड के दोनों ओर लंबा जाम लग गया व वाहनों को वापस भेजना पडा। बताया गया कि रोड चार घंटे में खुल पायेगा। वहीं स्कारपियों में चालक सहित चार लोग सवार थे जबकि टैक्सी में भी सवारी थी, लेकिन सभी बाल बाल बच गये।

यह भी पढ़ें: कैबिनेट मंत्री चंदन राम दास के निधन से प्रदेश में शोक की लहर, 26 से 28 अप्रैल तक तीन दिवसीय राजकीय शोक घोषित

यातायात को डायवर्ट किया

मसूरी देहरादून मुख्य मार्ग बंद होने पर देहरादून की ओर से आने वाले वाहनों को गजि बैंड से कार्टमैकंजी हाथीपांव रोड से जीरो प्वाइंट भेजा जा रहा है। वहीं कैंपटी की ओर से आने वाले वाहनों को जीरो प्वांइंट से हाथी पांव गजि बैंड की ओर भेजा जा रहा है।

कैंटिलेवर टूटने पर हुआ हादसा

मॉल रोड पर इन दिनों सौदर्यीकरण का कार्य किया जा रहा है, जिसके तहत मालरोड खोदी गई है। लेकिन जहां पर डंपर धंसा वह जगह कच्ची हो गई थी व रोड कैंटिलेवर पर थी। भारी वाहन के कैंटीलेवर पर आने से लोहे से बना कैंटिलेवर टूट गया।

घटना से सबक लेने की जरूरत

गंभीर रूप से घायल चालक को मालरोड पर सड़कें खुदी होने के कारण अस्पताल ले जाने में करीब एक घंटे से अधिक की देरी हुई। हाल यह था कि केमल्स बैक रोड पर पुराने सेंटमेरी के समीप से कुलड़ी चौक तक घायल को पैदल उठा कर लाना पड़ा। जिसके कारण अस्पताल ले जाते समय रास्ते में ही उसकी मृत्यु हो गई। ऐसी किसी आपात स्थिति से निपटने के विकल्पों पर भी विचार करने की आवश्यकता है। जब माल रोड से बाहर आने के सभी रास्ते खुदे पड़े हो और केवल कैमल बैक रोड खुली है तो ऐसे कैमल बैक पूरी तरह से खुली होनी चाहिए। लेकिन कैमल बैक पर आमने सामने दो वाहन क्रॉस नही हो सकते, क्योंकि पूरे कैमल बैक रोड पर सड़क किनारे वाहन पार्क होते हैं। लेकिन पुलिस प्रशासन इस ओर कभी ध्यान नहीं देते है। यदि पुलिस प्रशासन ने इस दिशा में कोई हल निकाला होता तो आज शायद डंपर के चालक को समय पर हॉस्पिटल पहुंचाया जाता और उसकी जान बच जाती। कहीं न कहीं यह पुलिस और प्रशासन की लापरवाही का ही नतीजा है। अभी भी कैमल बैक रोड पर यातायात को सुचारू करने को लेकर पुलिस को सख्ती दिखाने की जरूरत है। यहां जो भी वाहन सड़क किनारे पार्क होते हैं इन पर सख्ती की जानी चाहिए।

इस हादसे के बाद व्यापार संघ ने प्रशासन व विभागो की लापरवाही के खिलाफ गुरुवार को धरना प्रदर्शन के लिए आह्वान किया है।

About Author

Please share us

Today’s Breaking