March 4, 2024

एनएसयूआई व जौनपुर ग्रुप ने छात्रसंघ अध्यक्ष व एबीवीपी पर लगाए गंभीर आरोप

मसूरी। एनएसयूआई एंव जेपी ग्रुप ने संयुक्त पत्रकार वार्ता कर एमपीजी कालेज में छात्रसंघ पदाधिकारियों एवं एबीवीपी सदस्यों द्वारा प्रधानाचार्य एवं एनएसयूआई अध्यक्ष के साथ की गई अभद्रता की कड़े शब्दों में निंदा की है व कहा कि जो संगठन अपने को संस्कारवान कहता है, उनकी हकीकत कुछ और है। वहीं उन्होंने छात्रसंघ अध्यक्ष पर आरोप लगाया कि जिस गाड़ी में वह अपनी प्लेट लगाकर चलते हैं वह टैक्सी कार है।

कुलड़ी स्थित एक होटल के सभागार में आयोजित पत्रकार वार्ता में एमपीजी कालेज के पूर्व छात्रसंघ अध्यक्ष प्रिंस ने कहा कि एमपीजी कालेज में एबीवीपी छात्र हितों की जगह छात्रों का अहित करने में लगी है। उन्होंने कहा कि कालेेज कैंटीन व शौचालय का ताला तोड़ना अपराध है बिना प्रधानाचार्य की अनुमति के तोडा गया है। शौचालय खोलने के विरोध में एनएसयूआई नहीं है लेकिन कम से कम उसकी साफ सफाई करने के बाद खोला जाना चाहिए था। वहीं कहा कि उन्होंने पैड का प्रयोग किया जिसे वह स्वयं स्वीकार करते है लेकिन उसका उपयोग छात्र हित में किया गया। वहीं कहा कि जिस कार में एमपीजी कालेज के छात्रसंघ अध्यक्ष घूम रहे हैं वह पीली प्लेट की टैक्सी कार है जिस पर प्राइवेट प्लेट लगायी गई है। ऐसे में इस कार से कितने गलत कार्य किए जा रहे होंगे किसको पता है। वहीं मेरी कार पर पूर्व छात्र संघ अध्यक्ष का बोर्ड लगा है और लगा रहेगा।

इस मौके पर एनएसयूआई के अध्यक्ष नवीन शाह ने कहा कि कालेज कैंटीन व शौचालय का ताला तोड़ा गया जो गलत है यह शौचालय 2017-18 में बना था यह छात्रों के लिए बनाया गया था लेकिन तब से बंद पड़ा है क्योंकि उसकी सफाई नहीं हुई न पानी की व्यवस्था थी, लेकिन एबीवीपी के नेताओं व छात्रसंघ अध्यक्ष ने प्रधानाचार्य व उनके साथ अभद्रता की यह उनकी घटिया मानसिकता को दिखाता है। उन्होंने यह भी कहा कि अगर एबीवीपी कालेज हित में कार्य करना चाहती है तो केंद्र, प्रदेश में उनकी सरकार में कालेज में रिक्त पडे शिक्षकों के पद भरवाने का कार्य करना चाहित ताकि छात्रों का सही मायने में हित हो सके। इस मौके पर जौनपुर ग्रुप के छात्र नेता रोहन सिंह ने कहा कि कालेज में एबीवीपी ने गुंडागर्दी की है जिसका विरोध किया जायेगा। हम कैंटीन व शौचालय खोलने का विरोध नहीं कर रहे बल्कि जिस तरीके से ताला तोड़ कर खोला गया उसका विरोध कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि छात्रों का हित देखना है तो कालेज में शिक्षा का माहौल बनाने का प्रयास करें शिक्षकों की कमी को पूरा करें। ऐसा नहीं कि छात्र कक्षा में बैठे है और शिक्षक गायब है। शिक्षकों के आने व जाने का समय तय किया जाना चाहिए व उनकी कक्षाओं में उपस्थिति देखी जानी चाहिए।

इस मौके पर अमन कैंतुरा, विकास चौहान, आकाश पंवार, सागर, रंजीत, आराहन आदि मौजूद रहे।

About Author

Please share us