April 16, 2024

सीटू से सम्बद्ध आंगनबाड़ी, आशाओं तथा भोजनमाताओं ने विधानसभा का घेराव कर मुख्यमंत्री को प्रेषित किया ज्ञापन

मांगे पूरी नहीं हुई तो भाजपा को लोकसभा चुनाव में इसकी कीमत चुकानी पड़ेगी: सीटू



देहरादून। हजारों की संख्या में आंगनबाड़ी, आशा कार्यकत्री तथा भोजनमाताओं ने‌ विधानसभा सत्र के दौरान विधानसभा का जबरदस्त घेराव कर सरकार को चेताया कि यदि उनकी न्यायोचित मांगों पर कार्यवाही नहीं हुई तो भाजपा को आगामी लोकसभा चुनाव में इसकी कीमत चुकानी पड़ेगी ।

विधानसभा घेराव के लिए जाते सीटू से संबद्ध आशा, आंगनबाड़ी कार्यकत्रियां व भोजनमाताएं।

सीटू से संबद्ध हजारों की संख्या में आंगनबाड़ी, आशायें तथा भोजनमाताये धर्मपुर रोड़ पर एकत्रित हुई तथा सरकार की वादाखिलाफी के खिलाफ विधानसभा कूच किया। इस दौरान रोके जाने पर गुस्साई महिलाओं के साथ पुलिस की काफी धक्का मुक्की हुई ।

इस अवसर पर सीटू के जिला महामंत्री लेखराज ने कहा कि आज के विधानसभा कूच में शामिल हुई कार्यकर्ताओ ने धामी सरकार व मोदी सरकार को चेताने का काम किया है। उन्होंने कहा कि भाजपा को 2024 के लोकसभा चुनाव में इसका खामियाजा भुगतना पड़ेगा ।

इस अवसर पर सीटू के प्रांतीय अध्यक्ष राजेंद्र सिंह नेगी ने सभी यूनियनों से जुड़ी आशा, आंगनबाड़ी, भोजनमताओं का आह्वान किया कि यदि लोकसभा चुनाव से पहले उनकी मांगे नहीं मानी जाती हैं तो वे अपनी एकता दिखाएं और भाजपा को सबक सिखाने का काम करें। 

इस अवसर पर हजारों की संख्या में सीटू से सम्बद्ध आंगनवाड़ी कार्यकत्री सेविका कर्मचारी यूनियन, मिनी आंगनवाड़ी यूनियन, उत्तराखंड आशा स्वास्थ्य कार्यकत्री यूनियन, उत्तराखंड भोजनमाता कामगार यूनियन के कार्यकत्रियां शामिल रही।

विधानसभा घेराव कार्यक्रम का नेतृत्व आंगनवाड़ी की प्रांतीय महामन्त्री चित्रकला, लक्ष्मी पंत, रेखा नेगी, रजनी गुलेरिया, सुनीता रावत, आशा स्वास्थ्य कार्यकत्री यूनियन की प्रांतीय अध्यक्ष शिवा दुबे, सुनीता चौहान, नीरा कण्डारी, नीरज यादव, भोजनमाता कामगार यूनियन की प्रांतीय अध्यक्ष रोशनी बिष्ट, मोनिका, विजया डंगवाल कमला गुरुंग आदि कर रही थी ।

इस अवसर पर मुख्यमंत्री के ओ.एस.डी. सेठी को तीनों यूनियनों ने मांग पत्र दिया व मुख्यमंत्री से वार्ता का आश्वासन दिया गया।

इस अवसर पर मिनी आंगनवाड़ी केंद्रों को पूर्ण केंद्र घोषित करने का शासनादेश जारी किया गया। वही अन्य मांगों पर मुख्यमंत्री से वार्ता का आश्वासन दिया गया। इसके पश्चात अधिकारियों के लिखित आश्वासन के बाद आशाये व भोजनमाताओ ने अपना घेराव समाप्त किया ।

इस अवसर पर टिका प्रसाद पोखरियाल , रविन्द्र नौढियाल , मामचंद , एस.एफ.आई के प्रांतीय महामन्त्री हिमांशू चौहान , शैलेन्द्र परमार ने सम्बोधित किया ।

About Author

Please share us

Today’s Breaking