March 4, 2024

ईवीएम के विरोध राजनैतिक व सामाजिक संगठनों ने किया प्रदर्शन

मसूरी। इलेक्ट्रॉनिक वोटिंग मशीन(ईवीएम) के विरोध में देशभर में कई राजनैतिक व सामाजिक संगठनों ने जगह जगह धरना प्रदर्शन करना शुरू कर दिया है। इसी के तहत मसूरी में भी राजनैतिक दलों व सामाजिक संगठनों से जुड़े प्रतिनिधियों ने सामूहिक रूप से शहीद भगत सिंह चौक पर ईवीएम के खिलाफ प्रदर्शन किया व भारत निर्वाचन आयोग से आगामी सभी चुनाव बैलेट पेपर से करने की मांग की है।

राजनैतिक व सामाजिक कार्यकर्ताओं ने शहीद भगत सिंह चौक पर एकत्रित होकर इलेक्ट्रॉनिक वोटिंग मशीन के विरोध में प्रदर्शन किया। इस मौके पर निर्वाचन आयोग व सरकार के खिलाफ जोरदार नारेबाजी की। इस मौके पर वक्ताओं ने अपने संबोधन में ईवीएम पर सवाल उठाये व कहा कि ईवीएम बनाने वाले देश जापान में भी इसका प्रयोग नहीं होता है। यही नहीं विश्व के विकसित देशों अमेरिका, इंग्लैड द्वारा भी ईवीएम का प्रयोग नहीं किया जाता है और वहां पर भी चुनाव बैलेट पेपर से कराये जाते हैं। तो भाजपा सरकार व भारत निर्वाचन आयोग देशभर में।विरोध के बावजूद ईवीएम से चुनाव  क्यों करवा रहे है।

आम आदमी पार्टी के जिला प्रवक्ता प्रकाश राणा ने कहा कि देश में होने वाले सभी चुनावों में ईवीएम को प्रतिबंधित करके बैलेट पेपर से चुनाव कराये जाने चाहिए, क्योकि ईवीएम मशीन में प्रोग्रामिंग करके उसका दुरुपयोग किया जा सकता है। इसे जिन देशो ने बनाया है, उन्होंने ही ईवीएम को प्रतिबंधित कर रखा है। उन्होंने कहा कि देश में हुए चुनाव में कई स्थानों पर ईवीएम में खराबी पाई गयी है। प्रत्याशी जिस क्षेत्र से चुनाव लडा उसको उसी क्षेत्र में मत नहीं मिले जिससे इस पर संदेह होता है। अगर बैलेट पेपर से चुनाव करवाये जाये तो लोकतंत्र बचा रहेगा व जनता में चुनाव पर भरोसा होगा। भारत निर्वाचन आयोग से मांग है कि बैलेट पेपर से चुनाव करवायें ताकि निष्पक्ष चुनाव हो सके। अन्यथा लोकतंत्र की हत्या होगी। उन्होंने कहा कि बैलेट में धांधली नहीं की जाती ताकि जनता में विश्वास बना रहे। ताकि चुनाव एक तरफा न हो सके। उन्होंने बताया कि आज के दिन दिल्ली सर्वोच्च न्यायालय के बाहर देश भर के अधिवक्ता ईवीएम का विरोध कर रहे हैं। हाल ही में 15लाख ईवीएम गायब हो गई यह सब धांधले बाजी है।

इस मौके पर छावनी के पूर्व उपाध्यक्ष व कांग्रेस उपाध्यक्ष महेश चंद ने कहा कि ईवीएम का विरोध प्रदर्शन विभिन्न राजनैतिक दलों ने मिल कर किया है। उन्होने कहा कि पूरे विश्व में कहीं भी ईवीएम से चुनाव नहीं होते केवल हमारे देश में होते हैं। पूरे देश के सभी राजनैतिक दल ईवीएम का विरोध कर रहे है। केवल भाजपा नहीं करती जिससे संदेह पैदा होता है। भारत निर्वाचन आयोग से मांग है कि आगामी लोक सभा सहित सभी चुनाव बैलेट पेपर पर करवाये जाय, ताकि निष्पक्षता बनी रहे।

इस मौके पर इप्टा की ओर से ममता राव द्वारा जनगीत गाये गये। इस मौके पर आप पार्टी की हरपाल खत्री, सुदेश सैनी, नफीस बानो, विजय लक्ष्मी, अंजल, भाकपा के मजदूर नेता असलम खान, पंकज पंत आदि मौजूद रहे।

About Author

Please share us