May 24, 2024

पालिकाध्यक्ष अनुज गुप्ता ने शिक्षक दिवस की पूर्व संध्या पर आठ सौ से अधिक शिक्षकों को किया सम्मानित

मसूरी: नगर पालिकाध्यक्ष अनुज गुप्ता द्वारा शिक्षक दिवस की पूर्व संध्या पर मसूरी व आस पास के क्षेत्रों के एक हजार से अधिक शिक्षकों को सम्मानित किया गया। सम्मानित होने वालों में रिटायर्ड शिक्षक भी सम्मिलित रहे।  इस मौके पर बतौर मुख्य अतिथि पूर्व लेफ्टिनेंट जनरल व महानिदेशक भारतीय स्पेस एसोसिएशन अनिल भट्ट, पूर्व विधायक व उत्तराखंड क्रिक्रेट एसोसिएशन के अध्यक्ष जोत सिंह गुनसोला, पालिकाध्यक्ष अनुज गुप्ता एंव सभासदों ने सभी शिक्षकों को स्मृति चिन्ह देकर सम्मानित किया।  

नगर पालिका टाउन हाल में आयोजित शिक्षक सम्मान समारोह में मसूरी के हिंदी व अंग्रेजी के इंटर स्कूल, डिग्री कालेज, जूनियर व प्राथमिक विद्यालयों के शिक्षको सहित मसूरी के आस पास के क्षेत्र के एक हजार से अधिक शिक्षकों को सम्मानित किया गया। कार्यक्रम का शुभारंभ अतिथियों द्वारा दीप प्रज्वलित कर किया गया। जिसके बाद निर्मला इंटर कालेज की छात्राओं ने गणेश वंदना से सांस्कृतिक कार्यक्रमों की शुरुआत की। जिसमे मसूरी कंप्यूटर इंस्टीट्यूट के छात्राओं द्वारा भी सांस्कृतिक प्रस्तुतियां दी गई।

इस मौके पर मुख्य अतिथि पूर्व लेफ्टिनेंट जनरल व महानिदेशक भारतीय स्पेस एसोसिएशन अनिल भट्ट ने कहा कि शिक्षक से बडा नेशनल बिल्डर कोई नहीं है। महान कवि कबीरदास ने भी कहा कि गोविंद व गुरू में गुरू ही सम्मान का हकदार है। उन्होंने कहा कि गुरूओं को सम्मानित करने के लिए पूर्व राष्ट्रपति सर्वपल्ली राधाकृष्णन के जन्म दिवस पर शिक्षक दिवस मनाया जाता है। उन्होंने कहा कि नगर पालिका अध्यक्ष अनुज गुप्ता द्वारा गत दो वर्षों से पूरे शहर के शिक्षकों को सम्मानित करने का बहुत ही प्रशंसनीय कार्य किया गया है जो निरंतर जारी है। उन्होंन चंद्रयान पर कहा कि विश्व में भारत पहला देश है जिसने साउथ पोल में लैड किया है और अब सूर्य के रहस्य को जानने के लिए स्पेस में आदित्य एल वन को भेजा जा रहा है। उन्होंने कहा कि अपने वैज्ञानिकों के बूते भारत आने वाले समय में अवश्य ही विश्व गुरू बनेगा।

इस मौके पर विशिष्ट अतिथि पूर्व विधायक व उत्तराखंड क्रिकेट एसोसिएशन के अध्यक्ष जोत सिंह गुनसोला ने शिक्षकों के सम्मान में आयोजित भव्य आयोजन के लिए नगर पालिका अध्यक्ष अनुज को बधाई दी। उन्होंने कहा कि पहली बार सभी शिक्षकों को एक ही मंच पर लाकर सम्मानित करने के लिए भव्य आयोजन किया गया है, जिसके लिए पालिकाध्यक्ष अनुज गुप्ता प्रसंशा के पात्र हैं। उन्होंने सभी शिक्षकों को शिक्षक दिवस की शुभकामनाएं दी।

इस मौके पर पालिकाध्यक्ष अनुज गुप्ता ने सभी को शिक्षक दिवस की शुभकामनाएं देते हुए कहा कि मसूरी शिक्षा का केंद्र है और इसका शिक्षा से गहरा नाता रहा है। यहां के स्कूलों से पढे छा़त्र छात्राएं आज पूरे विश्व में उच्च पदों पर रहकर देश का नाम रोशन कर रहे हैं। उन्होंने कहा यही वजह है कि उन्होंने साल 2022 से सभी स्कूलों के शिक्षकों को एक ही मंच पर लाकर सम्मानित करने का निर्णय लिया। जो कि हर साल शिक्षक दिवस पर निरंतर जारी रहेगा। आज शिक्षकों को सम्मानित करते हुए वह खुद को गौरवान्वित महसूस कर रहे है। उन्होंने कहा कि आज भारत का चद्रयान चांद पर पहुचा है, तो उसमे शिक्षकों का ही योगदान है। मसूरी में पहले कभी इस तरह का कार्यक्रम नही किया गया। ऐसे मे शिक्षकों का सम्मान करना गर्व की बात है। उन्होंने कहा कि शिक्षकों के आशीर्वाद से शहर में अनेक विकास कार्य हो पाए है। यह आशीर्वाद हमेशा ऐसा ही बना रहे। उन्होंने सभी शिक्षकों अपना अमूल्य समय देने के लिए आभार व्यक्त किया।

कार्यक्रम में आरजे काव्या ने अपने ही अंदाज में कहा शिक्षकों के मन की बात को जुबा पर लाए वहीं उन्होंने पालिकाध्यक्ष द्वारा किए गए कार्यों पिक्चर पैलेस बस स्टैंड के चौड़ीकरण, घर घर से कूड़ा उठाने, गड़ीखाना कूड़ा डंपिंग जोन हटाए जाने आदि विकास कार्यों पर प्रकाश डाला। उन्होंने कहा जब वे मसूरी आए तो काफी कुछ बदला नजर आया। जिससे लग रहा है कि मसूरी में विकास कार्य हो रहे हैं। उनके साथ आरजे मन और आरजे धुन ने भी सहयोग किया। कार्यक्रम का संचालन संस्कृतकर्मी व राज्य आंदोलनकारी अनिल गोदियाल नें किया।

इस मौके पर पालिका सभासद आरती अग्रवाल, जसबीर कौर, सरिता पंवार, जसोदा शर्मा, मनीषा खरोला, प्रताप पंवार, दर्शन रावत, सुरेश थपलियाल, नगर पालिका के अधिशासी अधिकारी राजेश नैथानी सहित अधिकारी कर्मचारीगण एवं शिक्षक शिक्षिकाएं मौजूद रहे। 

About Author

Please share us