June 22, 2024

सीएम पुष्कर सिंह धामी, केद्रीय राज्यमंत्री अजय भटट, पालिकाध्यक्ष अनुज गुप्ता सहित विभिन्न संगठनों के प्रतिनिधियों ने शहीदों को श्रद्धासुमन अर्पित किये

मसूरी। उत्तराखंड राज्य निर्माण आंदोलन के दौरान हुए मसूरी गोली कांड की 29वीं वर्षगांठ पर मालरोड स्थित शहीद स्थल पर प्रदेश के मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी, केद्रीय रक्षा एवं पर्यटन राज्यमंत्री अजय भटट सहित विभिन्न राजनैतिक व सामाजिक संगठनों के प्रतिनिधियों, प्रदेश के विभिन्न स्थानों से आये आंदोलनकारियों व शहीदों के परिजनों ने शहीदों को नम आंखों से श्रद्धांजलि अर्पित की व राज्य निर्माण में उनके योगदान को याद किया। इस मौके पर सर्वधर्म सभा का आयोजन किया गया, जिसमें धर्म गुरूओं ने शहीदों की आत्मा की शांति के लिए शांति पाठ किया। इस्सके उपरान्त सांस्कृतिक कार्यक्रम आयोजित किये गए।

शहीदों को श्रद्धांजली देने के बाद मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने मसूरी गोली कांड के शहीदों बेलमती चैहान, हंसा धनाई, बलबीर नेगी, धनपत सिंह, राय सिंह बंगारी, मदनमोहन मंमगाई के परिजनों को शाॅल भेंट कर सम्मानित किया। इस मौके पर मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने शहीदों को श्रद्धांजलि देते हुए कहा कि सरकार द्वारा प्रयास है कि उत्तराखंड के शहीदों के सपनों के अनुसार राज्य का विकास हो सके और इस दिशा में लगातार कार्य हो रहे हैं। उन्होंने पूर्व प्रधानमंत्री स्वर्गीय अटल बिहारी वाजपेई का आभार व्यक्त करते हुए कहा कि उनकी बदौलत ही आज अलग उत्तराखंड राज्य मिल पाया है। उन्होंने कहा कि खटीमा गये व उसके बाद मसूरी आये व शहीदों को श्रद्धांजलि दी। आज भी उस समय पुलिस व तत्कालीन सरकार के कारनामें सुन रूह कांप उठती है। जब सरकार ने योजनाबद्ध तरीके से आंदोलनकारियों पर गोलियां चलाई लाठी चार्ज किया गया। यह बहुत ही स्मरण का दिन है। हमारा संकल्प है कि शहीदों के सपनों को साकार किया जाय। उन्होंने कहा कि प्रदेश सरकार ने कैबिनेट से  राज्य आंदोलनकारियों के लिए 10 प्रतिशत क्षैतिज आरक्षण का प्रस्ताव पास किया है, जिसे अब विधानसभा सत्र में रखा जायेगा व उसे पास किया जायेगा। राज्य में चिन्हीकरण का कार्य किया जा रहा है, व इसका आंकलन किया जायेगा। देहरादन में चार हजार से अधिक का चिन्हीकरण हो चुका है। 164 को जनपद में नौकरी दी गई है। राज्य आंदोलनकारियों के आश्रितों को पेंशन की सुविधा दी गई है। प्रदेश सरकार लगातार चुनौतियों के बाद भी कठोर निर्णय राज्य हित में लिए प्रदेश में समान नागरिक संहिता लागू करने की दिशा में आगे बढ रहे हैं। महिला सशक्तिकरण के लिए कार्य किया जा रहा है। पर्यटन को बढावा देने के लिए कार्य किया जा रहा है। अनियोजित विकास पर अंकुश लगाया जायेगा ताकि प्राकृतिक आपदाओं से बचा जा सके। इस मौके पर उन्होंने शहीद स्थल पर शैड लगाने की घोषणा की। वहीं जो ज्ञापन दिए गये उनके निस्तारण का प्रयास किया जायेगा।

इस मौके पर रक्षा राज्य मंत्री अजय भट्ट ने शहीदों को श्रद्धांजलि देते हुए कहा कि केंद्र सरकार और राज्य सरकार द्वारा उत्तराखंड प्रदेश के चहुमुखी विकास के लिए कार्य किया जा रहा है और अनेकों योजनाएं संचालित की जा रही है। उन्होंनेे कहा कि राज्य आंदोलन में शहादत देने वालों के कारण ही राज्य बना जिसमें सभी ने सहयोग दिया। उन्होंने कहा कि उत्तराखंड राज्य विकासशील प्रदेशों की सूची में दूसरे स्थान पर है और केंद्र सरकार द्वारा उत्तराखंड को हर संभव सहायता प्रदान की जा रही है प्रदेश में एक लाख करोड़ विकास योजनाओं के लिए आ चुका है। भारत ने चंद्रयान साउथ पोल पर भेजकर पूरे विश्व में भारत का डंका बजाया है और अब सूर्य के लिए आदित्य मिशन शुरू हो गया है। यह भाजपा का नहीं है पूरे देश का है जिस पर गर्व होना चाहिए। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का विशेष लगाव है व जो भी प्रस्ताव दिया उसे पूरा किया गया। कार्यक्रम को पूर्व विधायक व उत्तराखंड किक्रेट एसोसिएशन के अध्यक्ष जोत सिंह गुनसोला ने भी संबोधित किया।

अंत में पालिकाध्यक्ष अनुज गुप्ता ने शहीदों का श्रद्धांजलि देते हुए सभी का आभार व्यक्त किया व कहा कि मसूरी गोलीकांड के शहीदों के सपनों का साकार करने का हर संभव प्रयास किया जायेगा। कार्यक्रम का संचालन पूर्व पालिकाध्यक्ष मनमोहन सिंह मल्ल ने किया। इस मौके पर भाजपा महानगर अध्यक्ष सिद्धार्थ अग्रवाल, पूर्वपालिकाध्यक्ष ओपी उनियाल, भाजपा मंडल अध्यक्ष राकेश रावत, महामंत्री कुशाल राणा, पूर्व मंडल अध्यक्ष मोहन पेटवाल, महिला मोर्चा अध्यक्ष गीता कुमाई, उक्राद के त्रिवेंद्र पंवार, राज्य आंदोलनकारी संगठन के अध्यक्ष प्रदीप कुकरेती, सहित बड़ी संख्या में लोग मौजूद रहे।

इस मौके पर शहीद स्थल मसूरी शहीद स्मारक समिति के तत्वाधान में सर्वंधर्म सभा का आयोजन किया गया जिसमें मौलवी, पादरी, सिख ग्रंथी, हिन्दू  धर्मगुरू, संस्कृत विद्यालय के छात्रों, तिब्बती धर्मगुरूओं ने शहीदों की आत्मा के लिए शांति पाठ किया। सर्वधर्म सभा के पश्चात प्रसाद वितरित किया गया। प्रार्थना सभा के बाद सांस्कृतिक कार्यक्रमों का आयोजन किया गया जिसमें उत्तराखंड के मेलोडी गायक जितेंद्र पंवार ने उत्तराखंड राज्यआंदोलन पर लिखे गीत मेरू बीरू हरची गई उत्तराखंड की रैली मां गाकर श्रोताओं की आंखों में आंसू छलका दिए। वहीं उन्होंने पोथली फिल्म का गीत भी गाया। वहीं दूसरी ओर संस्कृति विभाग की ओर से हेमंत बुटोला एवं टीम ने मनमोहक सांस्कृतिक कार्यक्रमों की प्रस्तुति दी। जिसमें लोकनृत्य व गीत प्रस्तुत किए गये।

About Author

Please share us

Today’s Breaking