July 14, 2024

मसूरी के दो सौ साल के गौरवमयी इतिहास पर लिखी अनमोल जैन की पुस्तक वंडरिंग इन द लैड ऑफ मिस्ट का लोकार्पण किया

मसूरी। वरिष्ठ पत्रकार एवम लेखक अनमोल जैन द्वारा मसूरी के 200 साल की कहानियों का संकलन कर लिखी गई वंडरिंगस इन द लैंड ऑफ मिस्ट पुस्तक का लोकार्पण सिने अभिनेता पदम भूषण विक्टर बनर्जी, लेखक स्टीफन आल्टर, पूर्व डीजीपी अनिल रतूड़ी, लेखक गणेश सैली, विल एटकिन, पालिकाध्यक्ष अनुज गुप्ता एवं किशोर काया ने किया। जैन द्वारा पुस्तक को गहन शोध करने के पश्चात लिखा गया है।

इस पुस्तक में लेखक अनमोल जैन ने मसूरी के खूबसूरत हिल स्टेशन के अभ्युदय से लेकर मौजूदा समय तक किस तरह से रंग-रूप और मिजाज बदला है। इस सब पर अपनी लेखनी से अनेक रोचक ऐतिहासिक घटनाओं का विस्तारपूर्वक वर्णन किया है।

लाइब्रेरी स्थित एक होटल में अंग्रेजी के वरिष्ठ पत्रकार और इतिहास के जानकार अनमोल जैन की पुस्तक वंडरिंगस इन द लैंड ऑफ मिस्ट द कंपलीट स्टोर ऑफ मसूरी पुस्तक का लोकार्पण किया गया। इस अवसर पर विक्टर बेनर्जी ने कहा कि पुस्तक के लेखक अनमोल जैन ने कई ऐतिहासिक घटनाओं का रहस्योदघाटन किया। उन्होंने कहा कि यह पुस्तक संग्रहणीय है और मसूरी पर शोध करवाने वाले शोधार्थियों के लिए लाभकारी होगी। लेखक बिल एटकिन, स्टीफन आल्टर और गणेश शैली ने पुस्तक के कई अंशों पर प्रकाश डाला। वहीं पूर्व डीजीपी अनिल रतूडी ने कहा कि पुस्तक लिखना बहुत जोखिम भरा है। उन्होंने कहा कि लेखक होने की पहली योग्यता ही है वह कहानियों और उस नगर से अपना गहन जुड़ाव रखे। उसके बाद ही कहानियों में रोमांस और रोचकता बनी रहती है।

इस मौके पर पालिकाध्यक्ष अनुज गुप्ता ने पुस्तक के लेखक अनमोल जैन को बधाई दी और कहा कि यह पुस्तक मसूरी के इतिहास की जानकारी को देश-विदेश में परोसेगी, जिससे यहां पर पर्यटन बढ़ेगा।एल और लोगों के लिए आकर्षण बना रहेगा।

लेखक अनमोल जैन ने कहा कि पुस्तक के लेखन को लेकर लगभग पांच साल से मेहनत की जा रही थी। उन्होंने पुस्तक को अपने दादा और पिताजी को समर्पित किया और कहा कि बचपन में उन्हीं से मसूरी की सच्ची कहानियां सुनकर ही पुस्तक लिखने की प्रेरणा मिली। अनमोल ने कहा कि पुस्तक में देश-विदेश से मसूरी आने वाले सैलानियों के लिए करीब 48 दर्शनीय स्थलों का क्यू आर कोड भी तैयार किए गए। इन क्यू आर कोड को मोबाइल पर कैप्चर कर पर्यटक अपने गंतव्य तक पहुंच सकते है। उन्होंने कहा कि पुस्तक लिखने से पहले गहन शोध किया गया व मसूरी के कई रहस्यों से पर्दा उठाया गया है।

लोकार्पण समारोह में पूर्व विधायक जोत सिंह गुनसोला, पूर्व पालिकाध्यक्ष मनमोहन सिंह मल्ल, ओपी उनियाल, इतिहासकार जयप्रकाश उत्तराखंडी, आईटीबीपी अकादमी के निदेशक पीएस डंगवाल, उत्तराखंड होटल एसोसिएशन के अध्यक्ष संदीप साहनी, मसूरी होटल एसोसियेशन अध्यक्ष संजय अग्रवाल लोनिवि के अधिशासी अभियंता जितेंद्र त्रिपाठी, आशीष गोयल, शूरवीर भंडारी, लेखक की माता मंजुला जैन, पत्नी नेहा जैन, रजत अग्रवाल, निधि बहुगुणा, विवेक बहुगुणा, सहित शहर के अनेक गणमान्य लोग मौजूद रहे।

About Author

Please share us

Today’s Breaking