April 16, 2024

पालिकाध्यक्ष अनुज गुप्ता ने पूर्व पालिकाध्यक्ष मनमोहन सिंह मल्ल के आरोपों पर किया पलटवार, कहा- अपने गिरेबां में झांकें मल्ल

मसूरी। नगर पालिकाध्यक्ष अनुज गुप्ता ने पूर्व पालिकाध्यक्ष मनमोहन सिंह मल्ल के आरोपो पर जमकर पलटवार किया है। उन्होंने कहा कि आरोप लगाने से पहले मनमोहन सिंह मल्ल अपने गिरेबां में झांकें। पालिकाध्यक्ष ने कहा कि उनकी बोर्ड द्वारा जिसे भी रोजगार दिया गया, पक्का रोजगार दिया गया। मल्ल की तरह सरकारी जमीनों पर कब्जे नही करवाए। उन्होंने पूर्व पालिकाध्यक्ष को चुनौती दी है कि यदि मल्ल उनके कार्यकाल में कहीं भी अवैध कब्जे साबित कर दें तो वे इस्तीफा दे देंगे।

मल्ल ने लगाए वर्तमान पालिकाध्यक्ष पर आरोप

दरअसल पूर्व पालिकाध्यक्ष मनमोहन सिंह मल्ल ने वर्तमान अध्यक्ष अनुज गुप्ता पर सरकार के साथ मिलीभगत करने व पालिका की संपत्तियों को बेचने का गंभीर आरोप लगाया था।

पालिकाध्यक्ष अनुज गुप्ता ने किया पलटवार

वर्तमान पालिकाध्यक्ष अनुज गुप्ता ने पत्रकार वार्ता कर उनके आरोपों पर पलटवार किया है। उन्होंने कहा कि उनके द्वारा सभी कार्य शासन से अनुमति लेने के बाद नियमानुसार किए गए हैं। जबकि मन मोहन सिंह मल्ल के कार्यकाल में नियमों के विरुद्ध आवंटन किए जाते रहे हैं। उन्होंने कहा कि मनमोहन सिंह मल्ल द्वारा पालिका की भूमि पर होटल बनाया व माउंटरोज परिसर पर अपने बेटे से कब्जा करवाया गया है। उन्होंने कहा कि पूर्व पालिकाध्यक्ष मल्ल द्वारा अपने दस साल के कार्यकाल में पालिका की जमीनों पर चाहे भट्टा हो या माउंटरोज हो, पालिका की जमीनों को खुर्दबुर्द करने का काम किया। यही नहीं जनता के पैसे का दुरुपयोग नाले खालों में किया गया।

पालिकाध्यक्ष बोले – झूलाघर को बर्बाद करने मे मनमोहन सिंह मल्ल का हाथ, हमने झूला लगवाया और वेंडर जोन बनाकर झूलाघर की शान लौटाई

पालिकाध्यक्ष अनुज गुप्ता ने कहा कि पूर्व पालिकाध्यक्ष मनमोहन सिंह मल्ल उन पर पालिका की संपत्तियों को बेचने का आरोप लगा रहे हैं। उन्होंने कहा कि मल्ल को अपने गिरेबां में झांकना चाहिए। उनके द्वारा प्रतिवर्ष एक लाख सालाना पर कंपनी बाग को बेचा गया व एक्वेरियम को 15 सालों के लिए बेचा गया। झूलाघर को बर्बाद करने वाले मनमोहन सिंह मल्ल है। जबकि वर्तमान बोर्ड ने झूलाघर पर वेंडर जोन बनवाया व झूला लगवाया और झूलाघर की शान लौटाई।

वर्तमान बोर्ड के विकास कार्यों को देखकर बौखला गए मल्ल

पालिकाध्यक्ष ने कहा कि पूर्व पालिकाध्यक्ष मन मोहन सिंह मल्ल द्वारा शहर के बेरोजगारों की कभी सुध नहीं ली गई,बल्कि किंक्रेग पर एक ही भूमाफिया को 17 दुकानें आवंटित कर दी गई। क्या उत्तराखंड इसलिए बनाया था कि आप सरकारी संपत्तियों को एक ही व्यक्ति को बांटते रहे। शहर में बड़ी संख्या में बेरोजगार हैं उनके लिए इन संपत्तियों का उपयोग कर सकते थे। उन्होंने कहा कि वर्तमान बोर्ड ने कम समय में शहर में विकास की बुनियाद रखी। लेकिन पूर्व पालिकाध्यक्ष ने कुछ नही किया। उनके पास अपने दस सालों के कार्यकाल में शहर के लिए किए गए विकास को लेकर कहने को कुछ नही है। वे वर्तमान बोर्ड के विकास कार्यों को देखकर बौखला गए हैं।

पूर्व पालिकाध्यक्ष ने केवल नाले खालों में बर्बाद किया जनता का पैसा

पालिकाध्यक्ष अनुज गुप्ता ने कहा कि अगर मनमोहन सिंह मल्ल को शहर का विकास करना होता तो नाले खालों में धन बर्बाद करने के बजाय लंढौर में पार्किंग बनवाते। मैसानिक लॉज का चौड़ीकरण करते। जबकि वर्तमान बोर्ड ने यही सब कार्य उस पैसे से किए जिसे नाले खालों में बर्बाद किया जाता रहा। पालिकाध्यक्ष ने आश्चर्य व्यक्त करते हुए कहा कि शिफन कोर्ट वासियों के सबसे बड़े गुनहगार मनमोहन सिंह मल्ल हैं। लेकिन वे आज शिफनकोर्ट वासियों के धरने पर जाकर घड़ियाली आंसू बहा रहे हैं, जबकि उनके कार्यकाल में ही शिफनकोर्ट के मजदूरों को नोटिस देकर अवैध ठहराया गया, जो कि बाद में कोर्ट में मजदूरों के बेघर होने का कारण बना। जबकि वर्तमान बोर्ड ने शिफनकोर्ट के आधे से अधिक मजदूरों को पालिका के रैन बसेरों, आईडीएच व अन्य स्थानों पर आवास दिए। जो बचे है उनके लिए भी प्रयास किया जा रहा है। वहीं कुछ लोगों द्वारा शिफनकोर्ट के लोगों को बरगलाया जा रहा है कि पालिका ने भूमि संबंधित कोई प्रस्ताव पास नही किया है। उन्होंने साफ किया कि 17 अगस्त को ही बोर्ड ने प्रस्ताव पास कर आईडीएच में मजदूरों के आवास के लिए भूमि का प्रस्ताव पास कर शासन को भेज दिया था। जिसके बाद उस भूमि का प्रदेश के मुख्यमंत्री ने शिलान्यास भी किया।

मॉल रोड पर हो रहे कार्यों को लेकर सरकार व मंत्री गणेश जोशी का आभार व्यक्त किया

इस मौके पर उन्होंने माल रोड पर हो रहे कार्य को लेकर मल्ल द्वारा लगाए गए आरोप पर कहा कि मल्ल को शहर का विकास हजम नही हो रहा है, यही कारण है कि वे अनर्गल आरोप लगा रहे हैं। क्योंकि खुद उन्होंने अपने दस साल के कार्यकाल में कुछ नही किया। पालिकाध्यक्ष ने सरकार व मंत्री गणेश जोशी की सराहना की व मसूरी के मॉल रोड पर किए जा रहे विकास कार्यों को लेकर आभार व्यक्त किया। उन्होंने कहा कि जब कोई विकास कार्य होता है, तो थोड़ी परेशानी भी होगी ही, लेकिन जब मालरोड बनेगी तो उसका लाभ पर्यटन व स्थानीय लोगों को मिलेगा।

About Author

Please share us

Today’s Breaking